Shardiya navratri 2022 kaise manaye | शारदीय नवरात्रि पर क्या करें और क्या न करें,आइए जानते हैं

दोस्तों आपको इस बात की जानकारी अवश्य होनी चाहिए कि Shardiya navratri 2022 kaise manaye इस वर्ष Navratri 2022: 26 सितंबर 2022 से शक्ति आराधना का पर्व शारदीय नवरात्रि प्रारंभ होने जा रहा है। शारदीय नवरात्रि पर देवी दुर्गा की पूजा और साधना की जाती है। इसके अलावा देवी के नौ अलग-अलग रूपों की पूजा होती है। हिंदू धर्म में देवी दुर्गा जो माता पार्वती का ही स्वरूप हैं उन्हें महाशक्ति के रूप में पूजा जाता है। इस साल शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर से 5 अक्तूबर तक दुर्गा विसर्जन और विजय दशमी तक रहेगी।  हिंदू धर्म में नवरात्रि पर्व मां शक्ति की पूजा-उपासना के लिए विशेष माना गया है। तो आइए विस्तार से जानते हैं Shardiya navratri 2022 kaise manaye 

हिंदू पंचांग के अनुसार सालभर में कुल चार नवरात्रि आते हैं- दो गुप्त नवरात्रि, एक चैत्र नवरात्रि और एक शारदीय नवरात्रि। सभी नवरात्रि में Shardiya navratri और चैत्र नवरात्रि का विशेष महत्व होता है। नवरात्रि के दिनों में देवी दुर्गा हिमालय से पृथ्वी लोक में आती हैं और अपने भक्तों के घरों में 9 दिनों के लिए विराजमान होती हैं। नवरात्रि के 9 दिनों में देवी दुर्गा के 9 अलग-अलग स्वरूपों की पूजा-आराधना होती है। मां दुर्गा के भक्त इन नौ दिनों में उपवास रखते हुए मां शक्ति की साधना करते हैं। नवरात्रि के नौ दिनों के दौरान मां दुर्गा अपने भक्तों पर विशेष कृपा रखती हैं। अब जल्द ही शारदीय नवरात्रि शुरू होने वाले हैं। ऐसे में आइए जानते हैं इसकी पूरी डिटेल…     कब से शुरू होंगे शारदीय नवरात्रि और Shardiya navratri 2022 kaise manaye 

सभी नवरात्रों में चैत्र और शरद नवरात्रि का विशेष महत्व होता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार Shardiya navratri आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से लेकर नवमी तिथि तक मनाई जाती है। शारदीय नवरात्रि को शरद नवरात्रि भी कहते हैं क्योंकि इसी समय से शरद ऋतु का आगमन भी शुरू हो जाता है। इस साल शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर से 5 अक्तूबर तक दुर्गा विसर्जन और विजय दशमी तक रहेगी।           

शारदीय नवरात्रि 2022 कलश/घटस्थापना मुहूर्त 

घटस्थापना मुहूर्त    –       सुबह 06 बजकर 11 मिनट से 07 बजकर 51 मिनट तक

अवधि                  –        1 घंटे 40 मिनट

शारदीय नवरात्रि 2022

दिन                   नवरात्रि दिन   तिथि         पूजा-अनुष्ठान 

26 सितंबर 2022 नवरात्रि दिन 1 प्रतिपदा      माँ शैलपुत्री पूजा घटस्थापना

27 सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 2  द्वितीया      माँ ब्रह्मचारिणी पूजा

28 सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 3  तृतीया      माँ चंद्रघंटा पूजा

29 सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 4 चतुर्थी      माँ कुष्मांडा पूजा

30 सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 5 पंचमी      माँ स्कंदमाता पूजा

01 अक्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 6 षष्ठी      माँ कात्यायनी पूजा

02 क्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 7 सप्तमी      माँ कालरात्रि पूजा

03 अक्तूबर 2022  नवरात्रि दिन 8 अष्टमी    माँ महागौरी दुर्गा महा अष्टमी पूजा

04 अक्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 9 नवमी      माँ सिद्धिदात्री दुर्गा महा नवमी पूजा

05 अक्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 10 दशमी   नवरात्रि दुर्गा विसर्जन, विजय दशमी

Shardiya navratri 2022 kaise manaye – शारदीय नवरात्रि पर क्या करें और क्या न करें 

क्या करें – सात्विक भोजन, साफ़ सफाई, देवी आराधना,भजन-कीर्तन, जगराता, मंत्र,देवी आरती |

क्या न करें – प्याज,लहसुन,शराब,मांस-मछली का सेवन, लड़ाई, झगड़ा, कलह, कलेश, काले कपड़े और चमड़े की चीजें न पहने, दाढ़ी,बाल और नाखून न काटें | 

नवरात्रि के दिन के अनुसार भोग

शारदीय नवरात्रि 2022 नवरात्रि के दिन माता का भोग

पहला दिन       माँ शैलपुत्री देवी देसी घी 

दूसरा दिन       ब्रह्मचारिणी देवी शक्कर,सफेद मिठाई,मिश्री और फल

तीसरा दिन     चंद्रघंटा देवी           मिठाई और खीर

चौथा दिन     कुष्मांडा देवी           मालपुआ

पांचवां दिन     स्कंदमाता देवी केला

छठा दिन     कात्यायनी देवी शहद 

सातवां दिन     कालरात्रि देवी गुड़

आठवां दिन     महागौरी देवी        नारियल

नौवां दिन     सिद्धिदात्री देवी अनार और तिल

शारदीय नवरात्रि 2022 पर शुभ योग

शारदीय नवरात्रि 2022 नवरात्रि के दिन शुभ योग

पहला दिन माँ शैलपुत्री देवी सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग

दूसरा दिन ब्रह्मचारिणी देवी  

तीसरा दिन चंद्रघंटा देवी  

चौथा दिन कुष्मांडा देवी रवि योग

पांचवां दिन स्कंदमाता देवी सर्वार्थ सिद्धि योग

छठा दिन कात्यायनी देवी रवि योग

सातवां दिन कालरात्रि देवी सर्वार्थ सिद्धि योग

आठवां दिन महागौरी देवी रवि योग

नौवां दिन सिद्धिदात्री देवी  

शारदीय नवरात्रि 2022, घटस्थापना के लिए पूजा सामग्री   

घटस्थापना के लिए पूजा सामग्री – कलश, माता की फोटो. 7 तरह के अनाज, मिट्टी का बर्तन,पवित्र मिट्टी, गंगाजल आम या अशोक के पत्ते,गंगाजल, सुपारी, जटा वाला नारियल, अक्षत, लाल वस्त्र, पुष्प

शारदीय नवरात्रि 2022 पर शुभ योग 

शारदीय नवरात्रि 2022 नवरात्रि के दिन शुभ योग

पहला दिन माँ शैलपुत्री देवी सर्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग

दूसरा दिन ब्रह्मचारिणी देवी  

तीसरा दिन चंद्रघंटा देवी  

चौथा दिन कुष्मांडा देवी रवि योग

पांचवां दिन स्कंदमाता देवी सर्वार्थ सिद्धि योग

छठा दिन कात्यायनी देवी रवि योग

सातवां दिन कालरात्रि देवी सर्वार्थ सिद्धि योग

आठवां दिन महागौरी देवी रवि योग

नौवां दिन सिद्धिदात्री देवी

Shardiya navratri 2022 kaise manaye – नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा से लाभ

दिन नवरात्रि दिन तिथि पूजा-अनुष्ठान 

26 सितंबर 2022 नवरात्रि दिन 1 प्रतिपदा  देवी शैलपुत्री की पूजा से चंद्र दोष समाप्त होता है।

27सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 2  द्वितीया  देवी ब्रह्मचारिणी की पूजा से मंगल दोष खत्म होता है।

28 सितंबर 2022 नवरात्रि दिन 3  तृतीया  देवी चंद्रघण्टा पूजा से शुक्र ग्रह का प्रभाव बढ़ता है। 

29सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 4 चतुर्थी  माँ कूष्माण्डा की पूजा से कुंडली में सूर्य ग्रह मजबूत होता है। 

30सितंबर 2022  नवरात्रि दिन 5 पंचमी  देवी स्कंदमाता की पूजा से बुध ग्रह का दोष कम होता है।

01अक्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 6  षष्ठी  देवी कात्यायनी की पूजा से बृहस्पति ग्रह मजबूत होता है।

02अक्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 7    सप्तमी  देवी कालरात्रि की पूजा से शनिदोष खत्म होता है।

03अक्तूबर 2022  नवरात्रि दिन 8 अष्टमी  देवी महागौरी की पूजा से राहु का बुरा प्रभाव खत्म होता है।

04अक्तूबर 2022 नवरात्रि दिन 9 नवमी    देवी सिद्धिदात्री की पूजा से केतु का असर कम होता है। 

दोस्तों इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको Shardiya navratri 2022 kaise manaye की पूरी जानकारी मिल गई होगी | आर्टिकल आप अपने दोस्तों  और रिश्तेदारों को भी शेयर करें ताकि उन्हें भी जानकारी मिल पाए |