Aaj ki taja khabar | आज की ताजा खबर | 29 अगस्त 2022  

 Aaj ki taja khabar में पढ़िए:-

हरियाणा के बीजेपी नेता और टिकटोक स्टार सोनाली फोगाट की मौत के मामले की जांच CBI को दी जा सकती है | गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने रविवार को यह संकेत दिए हैं | उन्होंने कहा है कि जरूरत पड़ने पर सोनाली की मौत के मामले को हमारी सरकार सीबीआई को सौंपने को तैयार हैं | हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शनिवार रात इस बारे में सावंत से बातचीत की | सोनाली की गोवा में रहस्यमय हालात में मौत हो गई थी | 

गोवा के सीएम सावंत ने कहा कि हरियाणा के सीएम ने बताया कि सोनाली का परिवार चाहता है कि मामले की जांच CBI से करवाई जाए | मुझे इसमें कोई परेशानी नहीं है | सभी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद अगर जरूरी हुआ तो इस मामले में सीबीआई को सौंपा जाएगा | गोवा पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है | शनिवार को समाधि के परिवार में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिलकर केस सीबीआई को ट्रांसफर करने की मांग की थी | 

गोवा पुलिस ने सोनाली की मौत के मामले में पांचवी गिरफ्तारी की है | पुलिस ने बताया कि सोनाली के पीए सुधीर सांगवान को ड्रग्स देने वाले दत्ता प्रसाद गांवकर को जिससे ड्रग्स मिली थी, उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है | इसका नाम रमा मांडरेकर है | इन दोनों के साथ एडविन न्यूसंसको कोर्ट में पेश किया गया | तीनों को 5 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है |

Aaj ki taja khabar की सुर्ख़ियों में आगे पढ़िए:- 

देखते ही देखते ध्वस्त हो गया टावर, बटन दबाते ही धमाके, 500 मीटर के दायरे में छाई धुंध 

नोएडा के सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट सोसाइटी सेक्टर- 93 A में अवैध रूप से बने ट्विन टावर आखिरकार रविवार को  ब्लास्ट से ध्वस्त कर दिए गए | टावर को गिराने के लिए वायरिंग ब्लास्ट ट्यूब कंट्रोल पैनल का बटन दोपहर 2:30 बजे दवाई गया | धमाके की गूंज हुई और देखते ही देखते टावर बिखर गए | इसके बाद धूल का बड़ा गुबार उठा जिससे 500 मीटर के दायरे में धुंध छा गई | इसे दबाने की कोशिश में पानी की बौछार और छिलकों से शुरू की गई | यह इमारत 102 मीटर ऊंची थी | इसके दोनों तरफ सोसाइटी के आवासीय टावर बने हुए हैं | प्रशासन की तरफ से बताया गया कि टावर ढहने का असर आस पड़ोस की इमारतों के स्ट्रक्चर पर नहीं पड़ा है | 

सिर्फ एटीएस विलेज सोसायटी की 10 मीटर बाउंड्री दीवार टूटी है | टावर ध्वस्त करने वाली एडीफाईस एजेंसी ने करीब 3700 किलो विस्फोट लगाया था | मलवा आसपास में बिखर कर सामने की तरफ गिरे इसके लिए वाटरफॉल इंप्लॉजन कोलेप्स मेकैनिज्म पर ब्लास्ट डिजाइन तैयार किया गया था | इस तकनीक से मलवा खाली पड़ी जगहों पर गिरा | टावर ढहने  से पहले एमराल्ड कोर्ट और एटीएस विलेज सोसायटी सुबह 7:00 बजे ही खाली करवा दी गई थी | शाम 5:00 बजे के बाद सभी रास्ते खोल दिए गए | सुप्रीम कोर्ट ने ट्विन टावर गिराने का आदेश दिया था |