Respirometer | What is respirometer, know the right way to use it

What is a Respirometer  

दोस्तों, अगर हम बात करें Respirometer की तो यह एक हैंडहेल्ड डिवाइस है, जो सर्जरी या फेफड़ों की बीमारी के बाद आपके फेफड़ों को ठीक होने में मदद करता है। Respirometer की मदद से सांस लेने और छोड़ने से आपके फेफड़ों को सक्रिय रखने और तरल पदार्थ से मुक्त रखने में मदद मिलती है। जब आप Respirometer की मदद से सांस से जुड़ी एक्सरसाइज़ करते हैं, तो उपकरण के अंदर मौजूद गेंद या पिस्टन ऊपर उठते हैं, जिससे आपकी सांस की मात्रा को मापा जाता है। यह उपकरण निमोनिया, ब्रोंकाइटिस, या कोविड जैसी सांस संबंधी बीमारियों से उबरने के लिए फायदेमंद होता है। भगवान ना करे अगर किसी व्यक्ति को इसका उपयोग करना पड़ जाता है कृपया इसका उपयोग दूसरों के सामने न करें, इससे संक्रमण का ख़तरा रहता है। 

Romsons respirometer फेफड़े का व्यायाम करने वाला एक श्वास व्यायाम है,जो रोगी को अधिक कुशल व्यायाम प्रदान करने के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया है। कोविड इंफेक्शन हमारे को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाता है। यह हमारे फेफड़ों की ताकत को कम कर देता है, जिससे हमारे सांस लेने की क्षमता को नुकसान पहुंचता है। आमतौर पर इंफेक्शन से पहले और बाद में डॉक्टर लंग्स एक्सरसाइज करने की सलाह देते हैं। जिससे हमारे फेफड़ों की शक्ति को बढ़ाकर आराम से और खुलकर सांस ली जा सके। 

Respirometer भी एक ऐसा टूल है, जिससे लंग्स एक्सरसाइज की जा सकती है। सीओपीडी, अस्थमा जैसी फेफड़ों की बीमारी में डॉक्टर लंग्स को मजबूत बनाने के लिए  Respirometer के इस्तेमाल की सलाह देते हैं। मगर जानकारी के अभाव में लोग इसे इस्तेमाल करने का सही तरीका नहीं जानते हैं और कुछ गलतियां कर बैठते हैं। तो आइए दोस्तों,  इस उपकरण को को यूज करने का सही तरीका और इस दौरान होने वाली कुछ गलतियों के बारे में जानते हैं। कृपया आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें |            

What is the correct way to use a Respirometer 

Respirometer एक ऐसा एक्सरसाइज टूल है, जो निमोनिया, ब्रॉन्काइटिस, सीओपीडी या कोविड जैसी फेफड़ों की बीमारी या सर्जरी के बाद लंग्स को रिकवर करने में मदद कर सकता है। इस प्रक्रिया को पल्मोनरी रिहैबिलिटेशन कहते हैं। जिसमें एक्सरसाइज या जीवनशैली में बदलावों की मदद से किसी भी संक्रमण या लंग्स डिजीज के प्रभाव को खत्म करके लंग्स की ताकत बढ़ाई जाती है। इसी के तहत Respirometer (रेस्पाइरोमीटर) का इस्तेमाल करके सांस लेने या छोड़ने के फोर्स को धीरे-धीरे बढ़ाया जाता है। जब हम रेस्पाइरोमीटर के द्वारा सांस लेते हैं, तो उसमें मौजूद छोटी-छोटी गेंद या पिस्टन उठने लगती हैं और आपकी सांस का वॉल्यूम बनाती हैं। 

What is the function of respirometer

दोस्तों आपको बता दूं, कि रेस्पाइरोमीटर का आविष्कार मूल रूप से सन 1840 के दशक में एक अंग्रेजी सर्जन जॉन हचिंसन ने किया था। रेस्पिरोमीटर उपकरण का एक टुकड़ा है जिसका उपयोग एक निर्धारित अवधि में ली गई ऑक्सीजन की मात्रा को मापकर श्वसन की दर को मापने के लिए किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, श्वसन की दर पर तापमान में परिवर्तन के प्रभाव की जांच के लिए Romsons respirometer का उपयोग किया जा सकता है। रेस्पाइरोमीटर सीओपीडी के लक्षणों के मौजूद होने से पहले और एक्स-रे पर संकेत दिखाई देने से 5-10 साल पहले वायु प्रवाह बाधा की पहचान कर सकती है। 

The Right Way to Use the Respirometer

Respirometer (रेस्पाइरोमीटर) का उपयोग सांस लेने और सांस छोड़ने दोनों के लिए किया जा सकता है। सांस लेने के लिए इसे सीधा पकड़ें और सांस छोड़ने के लिए इसे उल्टा करके पकड़ें। आइए दोस्तों, इस उपकरण को को यूज करने का सही तरीका जानते हैं:-  

पहला स्टेप: कुर्सी या फिर अपने बेड के कोने पर आराम से बैठें।

दूसरा स्टेप: अपने स्पाइरोमीटर को आइ-लेवल पर सीधा पकड़ें।

तीसरा स्टेप: माउथपीस को मुंह में रखें और होंठों को कस कर बंद कर लें, ताकि हवा बाहर न निकले।

चौथा स्टेप: आहिस्ता से मुंह से सांस लें और कोशिश करें कि गेंदों को ज़्यादा से ज़्यादा ऊपर रखें। इसे 5 बार करें।  

पांचवां स्टेप: अब Respirometer (स्पाइरोमीटर) को उल्टा कर दें और गेंदों को ज़्यादा से ज़्यादा ऊपर रखने की कोशिश करें।

सांस लेने में दिक्कत न आए इसीलिए बीच-बीच में आराम भी करें। अगर आप Respirometer इस्तेमाल करते वक्त कमज़ोरी या बेहोशी महसूस करते हैं, तो इस एक्सरसाइज़ को फौरन रोक दें। इसे 10-12 बार से ज़्यादा न करें, क्योंकि इससे सांस फूल सकती है। कोरोना वायरस सीधा लंग्स पर अटैक करता है। जिससे सांस लेने में दिक्कत होती है। आज के समय में बहुत से लोग Romsons Respirometer (स्पाइरोमीटर) के जरिए लंग्स की एक्सरसाइज कर रहे हैं। लेकिन इसमें कुछ ऐसी गलतियां हैं जो एक्सरसाइज को असरदार बनने से रोक सकती हैं। कोरोना वायरस की लहर लगभग ठंडी पड़ती दिखाई दे रही है। लेकिन अभी यह वायरस पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। इसलिए लोग अपनी इम्यूनिटी से लेकर लंग्स तक का ख्याल रखने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। 

ज्ञात हो कि कोरोना वायरस हमारे रेस्पिरेटरी सिस्टम पर आक्रमण कर उसे क्षतिग्रस्त कर देता है। जिसकी वजह से हमें सांस लेने में दिक्कत आती है। ऐसे में कुछ लोग लंग्स को पहले से ही सुरक्षित रखने और तंदुरुस्त बनाने के लिए योग और  Respirometer  का सहारा ले रहे हैं। लेकिन इस मशीन का गलत उपयोग आपकी एक्सरसाइज के प्रयास को भी खराब कर सकता है। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि आप रेस्पाइरोमीटर के जरिए एक्सरसाइज करते समय क्या गलती कर रहे हैं और इसे कैसे सही करना है। आइए जानते हैं रेस्पाइरोमीटर के जरिए एक्सरसाइज करने का सही तरीका। रेस्पाइरोमीटर एक ऐसी मशीन है जिसका उपयोग लंग्स की क्षमता बेहतर करने के लिए किया जाता है। आमतौर पर इसका उपयोग वह लोग करते हैं जिन्हें किसी तरह का लंग्स इंफेक्शन हुआ या कोविड वायरस से संक्रमित होकर ठीक हुए हैं। इस मशीन के जरिए व्यक्ति सांस लेता और छोड़ता है। जब व्यक्ति सांस लेता है तो इसके अंदर मौजूद बॉल या पिस्टन ऊपर की ओर चली जाती है। जिसके जरिए पता चलता है कि आपके लंग्स सही से ऑक्सीजन ले रहे हैं या नहीं। अगर आप भी इस उपकरण का उपयोग कर रहे हैं तो ध्यान रहे कि किसी दूसरे व्यक्ति के सामने इसका उपयोग बिल्कुल ना करें।     

रेस्पाइरोमीटर मशीन के  जरिए आप सांस लेने और छोड़ने दोनो का कार्य कर सकते हैं। बस आपको सांस लेते हुए इसे सीधा रखना होगा और सांस छोड़ते हुए उल्टा रखना होगा। आइए जानते हैं कैसे करें इसका उपयोग

1.सबसे पहले आप किसी कुर्सी या बेड के किनारे पर सीधे बैठ जाएं।

2.अब आपको रेस्पाइरोमीटर को अपनी आंखों के सामने पकड़ना होगा।

3.इसके बाद आपको इसके माउथपीस को में मुंह में रखना होगा। ध्यान रहे कि इस दौरान आप इसे पूरी तरह बंद कर दें ताकि सांस भरने या छोड़ने के दौरान हवा बाहर न जाए।

4.अब आपको धीरे धीरे सांस लेनी होगी, इसमें बॉल जितना ज्यादा ऊपर जाएंगी उतना ज्यादा अच्छा रहेगा। ऐसा आपको पांच बार करना होगा।

5.इसके बाद आपको रेस्पाइरोमीटर को उल्टा करना है और सांस छोड़नी है।

6.इस दौरान बॉल उतना ही ऊपर आएं जितना सांस लेते समय आई थी। इसे आप कम से कम 10 बार दोहराएं और फिर रेस्ट लें।         

अगर आपको इस मशीन से एक्सरसाइज करते समय चक्कर आएं या फिर सांस फूलने लगे तो तुरंत ही एक्सरसाइज करना बंद कर दें। इसके अलावा आप एक ही समय में केवल 10 से 12 बार इसे दोहराएं। इस एक्सरसाइज को ज्यादा करने की कोशिश ना करें। आइए अब जानते हैं रेस्पाइरोमीटर को उपयोग करते समय होने वाली गलतियों के बारे में।

Exercise only after being relaxed

क्या आप Romsons respirometer का उपयोग करने से पहले थोड़ा रिलैक्स होते हैं। अगर हां तो यह तरीका सही है और अगर नहीं तो यह आपकी स्थिति को बिगाड़ भी सकता है। इसलिए रेस्पाइरोमीटर से आप जब भी एक्सरसाइज करें तो उससे पहले थोड़ी देर रिलैक्स जरूर करें। तभी आपको इस एक्सरसाइज का लाभ भी होगा और आप एक्सरसाइज सही से कर भी पाएंगे।   

Stop breathing or not

Romsons respirometer  का उपयोग करते समय आपको सांस लेते और छोड़ते समय अपनी क्षमता का पूरा उपयोग करना है। अगर आप ऐसा नहीं करते तो आपको उतना फायदा नहीं होगा जितना हो सकता है। इसके अलावा रेस्पाइरोमीटर के उपयोग के दौरान सांस को रोक कर रखने की गलती ना करें। इससे आपको एक्सरसाइज के गलत परिणाम देखने को मिल सकते हैं। बस एक्सरसाइज धीरे धीरे करें और अपनी लिमिट्स पूश करते रहें।    

what position was noticed

Respirometer का उपयोग करते समय यह सबसे कॉमन मिस्टेक है। इस एक्सरसाइज को करते समय अपनी बैठने की पोजीशन पर ध्यान ना देना। ध्यान रहे कि इस दौरान आपको अपनी कमर को बिल्कुल सीधा रखना है और कंधे सामने की ओर खुले हुए होने चाहिए। झुके हुए कंधे और झुकी हुई कमर इस एक्सरसाइज का असर कम कर सकते हैं। इसके अलावा आप अपने लंग्स की क्षमता का भी उपयोग पूरी तरह नहीं कर पाएंगे।   is the 

Is respirometer good for the lungs

जी हां दोस्तों, Romsons respirometer एक ऐसा उपकरण है जो आपके फेफड़ों को मजबूत करने में आपकी मदद करता है । आपका डॉक्टर आपको सर्जरी के बाद अस्पताल छोड़ने के बाद घर ले जाने के लिए  रेस्पाइरोमीटर दे सकता है। सीओपीडी जैसे फेफड़ों को प्रभावित करने वाली स्थितियों वाले लोग भी अपने फेफड़ों को सक्रिय रखने के लिए रेस्पाइरोमीटर का उपयोग कर सकते हैं। सांस से जुड़ी एक्सरसाइज़ करने से फेफड़े मज़बूत होते हैं और आपको सांस लेने में आसानी भी पहुंचाती हैं। फेफड़ों की मज़बूती के लिए आप रेस्पाइरोमीटर का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Mistake in holding Respirometer

ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हे लगता है कि  Respirometer (स्पाइरोमीटर) का उपयोग केवल सांस लेने के लिए ही किया जाता है। जबकि इसका उपयोग सांस लेने और छोड़ने दोनों में किया जाता है। आपको सांस लेते समय उल्टा पकड़ना है और छोड़ते समय इसे सीधा करना है।  

रोमसंस रेस्पिरोमीटर / स्पाइरोमीटर फेफड़े का व्यायाम करने वाला एक श्वास व्यायाम करने का उपकरण है प्रेरणा के माध्यम से श्वसन व्यायाम करने के लिए एक अभिनव प्रणाली।

इसको स्टेप अप आधार पर रोगी को अधिक कुशल व्यायाम प्रदान करने के लिए विशेष रूप से 3 चरण कक्षों के साथ डिज़ाइन किया गया है।

इसके डिवाइस तीन छोटे क्षेत्रों वाले तीन कक्षों में विभाजित आधार और मध्य भाग से बना है।

उपयोगकर्ता द्वारा दी गई प्रेरणा के अनुपात में तीन क्षेत्र बढ़ते हैं।अभिनव डिजाइन, सफाई और कीटाणुशोधन के लिए भागों में अलग किया जा सकता है। तो साथियों, इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप Romsons respirometer की सभी जानकारी से अवगत हो गए होंगे | यह लेख आपको अगर अच्छा लगे तो लाइक करें और अपने साथियों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करें ताकि किसी प्रकार की सांस की दिक्कत होने पर वह भी डॉक्टर की सलाह से इसका लाभ उठाएं | 

आगे पढ़िए  Breazer | Benefits of the Romson Breazer 5000 Volumetric Respiratory Exerciser

आगे पढ़िएRomsons BP machine | Checking BP with these BP machines is a matter of minutes