epf interest rate 2022 | epf ब्याज दर में बड़ी कटौती, कर्मचारियों पर क्या होगा असर, जानिए | Zeebiz.in 

 

नमस्कार दोस्तों एम्पलाई प्रोविडेंट फंड ऑर्गेनाइजेशन (epfo)  ने वित्त वर्ष 2021 – 2022 के लिए ब्याज दर में कटौती का फैसला किया है | यानी अब आपको epf interest rate 2022 में PF अकाउंट में जमा राशि पर 8.5% के बजाय 8.10% की दर से ब्याज मिलेगा | होली से पहले लगभग 6  करोड़ वेतन भोगियों को जोर का झटका लगा है | कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने शनिवार को चालू वित्त वर्ष 2021 – 2022 के लिए पीपीएफ ब्याज दर घटाने का फैसला कर लिया है | आपको बता दें कि इससे पहले 1977 में पीपीएफ ब्याज दर 8% हुई थी | 

हम अगर छत्तीसगढ़ की बात करते हैं तो प्रदेश में लगभग 5 लाख से ज्यादा शासकीय कर्मचारी हैं | epf interest rate 2022 की कटौती से प्रदेश भर में कर्मचारियों को बड़ा नुकसान झेलना पड़ेगा | अगर आंकड़ों को देखें तो छत्तीसगढ़ में प्रतिमाह 1500 रुपये के आसपास शासकीय कर्मचारियों को नुकसान झेलना पड़ सकता है |केंद्र सरकार अगर सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्ट इसकी बैठक में लिए गए फैसले को मानती है तो छत्तीसगढ़ के साथ-साथ देशभर के सरकारी कर्मचारियों को भी भारी नुकसान झेलना पड़ेगा | सरकारी नौकरी के दौरान बीएफ में जमा हुई पूंजी में ब्याज दर में कटौती से भविष्य में मिलने वाली राशि पर भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है | केंद्रीय वित्त मंत्री और केंद्र सरकार से ब्याज दर में कटौती नहीं करने की गुजारिश की गई है |  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने पांच राज्यों में चुनाव खत्म होते ही आम जनता को epf interest rate 2022 के लिए ब्याज दर घटाकर एक बहुत बड़ा झटका दिया है | सरकार के इस कदम से पीएफ खातों पर ब्याज ले रहे ईपीएफओ सब्सक्राइबर्स को अब कम ब्याज मिलेगा यानी उनकी कमाई कम होगी  | ताजा कटौती के बाद ई पीएफ पर ब्याज दर 4 दशक में सबसे कम हो गई है | इससे पहले वित्त वर्ष 1977 – 78 मैं कर्मचारियों को epf interest rate पर 8 फ़ीसदी की दर से ब्याज का भुगतान किया गया था |