12, दिसंबर शेयर मार्केट की ताजा खबरें | Current news of share market 12, December

 

सरकारी सहायता से बेहद कम पूंजी के साथ शुरू करें यह बिजनेस, हरेक महीने होगी अच्छी कमाई 

दोस्तों आज हम एक ऐसा बिजनेस आइडिया बताने जा रहे हैं, जिसे शुरू करके आप हर महीने अच्छी इनकम कर सकते हैं |

Business idea:- आप अगर कोई बिजनेस करना चाहते हैं तो आपको एक ऐसा बेहतर आईडिया दे रहे हैं, जिसमें आपकी बंपर कमाई हो सकती है | इस बिजनेस को थोड़े से पैसे लगाकर भी स्टार्ट किया जा सकता है और हर महीने में अच्छी खासी आमदनी हो सकती है | दरअसल आप कटलरी बनाने की यूनिट लगा सकते हैं | सबसे अच्छी बात यह है कि इस कारोबार को शुरू करने के लिए भारत सरकार की मुद्रा इसकी से आपको मदद भी मिलेगी | आपको बता दें कि कटलरी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट एक ऐसा व्यापार है, जिस की डिमांड  हरेक घर में होती है | इसके अलावा कटलरी की डिमांड शादियों, पार्टियों, पिकनिक और खाने-पीने की दुकानों पर भी होती है | वही कटलरी से हैंडलूम और खेती में काम आने वाले कुछ जरूरी टूल को भी बना सकते हैं | इसके साथ ही आप इसे बड़े लेवल पर एक्सपोर्ट भी कर सकते हैं | इसमें आप घर के प्रोडक्ट के अलावा अन्य टूट भी बना सकते हैं | 

Business idea:- यह कंपनी दे रही है लाखों रुपए कमाए करने का मौका हरेक महीने,कैसे उठाएं फायदा जानिए |कोरोना काल के इस दौर में अगर आप किसी अच्छी बिजनेस की तलाश में है तो हम आपको एक ऐसा बिजनेस बता रहे हैं जिसमें आप अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं | करोना के इस दौर में आप मेडिकल सेक्टर में भी अच्छी कमाई कर सकते हैं | इस बिजनेस को आप बहुत ही कम पूंजी के साथ शुरू कर सकते हैं | जेनेरिक दवा स्टार्टअप कंपनी जेनेरिक आधार में निवेश कर आप हर महीने लाखों कमाने का अपना सपना पूरा कर सकते हैं | जेनेरिक आधार एक फार्मेसी बिजनेस है, इसको आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से कर सकते हैं | इस व्यापार को शुरू करने के लिए 1 लाख रुपया लगाकर हर 1 महीने लगभग 10 लाख रुपए तक कमा सकते हैं | 

Business idea:- मेडिसिनल प्लांट की करें खेती, सरकार भी करेगी मदद लाखों रुपए की होगी कमाई |अगर आप नौकरी के साथ में खेती के जरिए भी लाखों रुपए कमाए करना चाहते हैं तो आपको एक बेहतर आईडिया दे रहे हैं | इसमें अगर आपके पास खेत भी नहीं है तब भी आप खेती कर सकते हैं | इन दिनों देश में औषधीय पौधों की खेती का चलन तेजी से हो रहा है | कम उत्पादन और अधिक मांग के चलते खेती करने वाले किसानों को अच्छी कमाई भी हो रही है | साथ ही सरकार भी किसानों की इनकम बढ़ाने के मकसद से मेडिसिनल प्लांट की खेती को प्रोत्साहन दे रही है |मेडिसिनल प्लांट की खेती के लिए ना ही तो बड़े खेत की जरूरत है और ना ही बहुत अधिक निवेश करने की | इस तरह की खेती के लिए अपना खेत होना भी जरूरी नहीं है | इसे आप कॉन्ट्रैक्ट बेस पर भी ले सकते हैं | आजकल कई कंपनियां कॉन्ट्रैक्ट पर ही खेती कर आ रही है | इनकी खेती शुरू करने के लिए आपको कुछ हजार रुपये ही खर्च करने की जरूरत है, लेकिन कमाई लाखों में होती है | 

अगले साल 2022 केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी ओं से भरा हुआ साबित होने वाला है, मोदी सरकार 20000 तक बढ़ाएगी वेतन 

7th Pay commission iatest updates:अगले साल 2022 केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी ओं से भरा हुआ साबित होने वाला है | महंगाई भत्ता, डियरनेस रिलीफ,बढ़ाने के साथ हाउस रेंट अलाउंस में हालिया बढ़ोतरी के बाद 2022 में एक बार फिर से भत्तों में बढ़ोतरी हो सकती है | अगर मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जनवरी 2022 में डीए मे 1 से 3 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है | मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिए बढ़ने के बादसैलरी में करीब 20,000 रुपए की बढ़ोतरी हो सकती है | हालांकि, महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी को लेकर सरकार की तरफ से आधिकारिक तौर पर कुछ भी नहीं कहा गया है | न हीं कहा गया है कि डीए बढ़ाया जाएगा | 

PF खाताधारक शीघ्र ही निपटा लें यह काम, नहीं तो होगा बड़ा नुकसान 

पीएफ खाताधारकों के लिए दिसंबर में एक डेडलाइन और खत्म होने वाली है | ईपीएफओ सभी पीएफ खाताधारकों के लिए नॉमिनी जोड़ने के लिए कहा है | ऐसा नहीं करने पर आपको बहुत ही बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है | ईपीएफओ ने नॉमिनी की डेडलाइन 31 दिसंबर 2021 तक अपडेट कराने की तारीख तय की है | ईपीएफओ साथ में ही यह भी सुविधा दी है कि खाताधारक जितनी बार चाहे, उतनी बार नॉमिनी का नाम बदल सकते हैं |ईपीएफओ ने कहा है कि सब्सक्राइबर्स को अपने परिवार को सोशल सिक्योरिटी उपलब्ध कराने के लिए ई-नॉमिनेशन को भरना चाहिए | यह प्रक्रिया आसान है और इसका यूट्यूब लिंक भी शेयर किया हुआ है |

ऑनलाइन भी जोड़ सकते हैं आप नॉमिनी का नाम 

नॉमिनेशन को ऑनलाइन भरने के लिए सब्सक्राइबर्स को ईपीएफओ की वेबसाइट epfindia.gov.in पर जाना होगा | इसके बाद सर्विस ऑप्शन में जाकर ड्रॉपडाउन में 4 इंप्लाइज को चुने इसके बाद मेंबर UAN/Online Service (ocs/otcp) पर क्लिक करें | इसमें अपने UAN और पासवर्ड के साथ लॉगिन करें | अपने फैमिली डिक्लेयरेशन को अपडेट करने के लिए यस पर क्लिक करें | सब्सक्राइब के आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर पर OTP भेजा जाएगा |OTP को सबमिट करें और आपका e-nomination रजिस्टर्ड हो जाएगा | इसमें 1 से अधिक नॉमिनी को जोड़ा जा सकता है और इसके लिए कोई डाक्यूमेंट्स जमा कराने की जरूरत नहीं है | 

क्रिप्टो करेंसी पर प्रस्तावित बिल इस राह का अंत नहीं, बल्कि महज एक शुरुआत है 

सरकार इसी साल शीतकालीन सत्र में डिजिटल करेंसी बिल पेश कर सकती है | क्रिप्टोकरंसी पर प्रस्तावित बिल अभी संसद में पेश होना है, लेकिन उसके बारे में कुछ महत्वपूर्ण डिटेल सामने आने लगे हैं | कहा जा रहा है कि यह बिल क्रिप्टो करेंसी में कारोबार करना तो अवैध बना ही देगा, लेकिन ऐसा करने वालों पर यह अधिकतम प्रहार करने वाला है | इस के अवैध कारोबार में लिप्त रहने वालों को बिना वारंट पकड़ा जा सकेगा | और उन पर 20 करोड़ रुपए तक जुर्माना लगाया जा सकता है इसके साथ उन्हें डेढ़ साल तक की सजा भी हो सकती है | हालांकि इसके समांतर कुछ और भी बातें सामने आ रही है, जिन से यह संकेत मिल रहा है कि क्रिप्टो करेंसी पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने के बजाय इन्हें कड़े नियम के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी को सौंप दिया जाएगा | ऐसे में या समझना बहुत ही महत्वपूर्ण है कि आखिर क्रिप्टो करेंसी पर सरकार का रुख है क्या ? क्या क्रिप्टो वित्तीय रूप से इतने खतरनाक हैं कि सरकार इसका अस्तित्व पूरी तरह मिटा देना चाहती है, या फिर सरकार, जैसा कि एलोन मस्क और मुकेश अंबानी जैसे शीर्षस्थ उद्योगपति ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी के बारे में कह चुके हैं, उससे सहमत होकर इसे एक अवसर देना चाहती है | 

दरअसल हममें से बहुतों को यह अंदाजा नहीं है कि भारत में क्रिप्टोकरंसी का प्रभाव किस स्तर तक बढ़ चुका है | क्रिप्टो करेंसी का पहली बार जिक्र 2008 में एक रिसर्च पेपर में किया गया और 2010 में बिटकॉइन मैं पहला वाणिज्यिक लेनदेन हुआ | इसके करीब 3 साल बाद 2013 में क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज यूनिकॉर्न लंच हुआ, जिसके बाद भारतीयों के लिए क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग करना संभव हो गया | यानी यदि इसी वर्ष को भारत में क्रिप्टो की शुरुआत माने तो भी अभी इसके 8 वर्ष पूरे हुए हैंलेकिन इतने कम समय में यह भारत में किस कदर लोकप्रिय हो गया है, इसे इसी तथ्य में से समझा जा सकता है कि सिर्फ 2021 में ही भारत में क्रिप्टोकरंसी का बाजार लगभग 7 गुना बढ़ गया है | इस साल अगस्त में ग्लोबल क्रिप्टो एडॉप्शन इंडेक्स जारी किया गया, जिसके मुताबिक जिन 154 देशों में क्रिप्टोकरंसी रखने वाले लोग हैं, उनमें भारत का दूसरा स्थान है |